अस्मिता जागरण में साहित्य निर्माण एवं विविध माध्यमों का योगदान -Valedictory session